23 Psychological sex facts in hindi | सेक्स के बारे मे मनोवेज्ञानिक तथ्य

0
(0)

Sex facts hindi : सेक्स एक ऐसा विषय है जिस पर लोग अक्सर बात करने से कतराते है, जिस कारण सेक्स का लोगो को अधिक ज्ञान नहीं होता है। आज हम आपको 23 ऐसे ही psychological sex facts के बारे मै बताएंगे जो शायद आप नहीं जानते होंगे।

 सेक्स के बारे मे ये तथ्य हमें बताते है कि इंसानों की लाइफ में सेक्स बस प्रजनन के लिए ही जरूरी नहीं होता, बल्कि इसकी मदद से हम अपने आपको साइकोलॉजिकली और आध्यात्मिक रूप से भी आगे बढ़ा सकते हैं।

sex facts hindi23 Psychological sex facts hindi

 

1. हम सेक्स को आत्मसम्मान से जोड़कर देखते है।

कई स्टडीज में पता लगा है कि ज्यादातर लोग जो अधिक अच्छे से सेक्स का आनन्द लेते है, उनका आत्मसम्मान ज्यादा होता है और वह आत्मविश्वास से भरे होते है।

इसके साथ ही कई लोग सेक्स करते हैं सिर्फ कॉन्फिडेंट महसूस  करने के लिए यह इसलिए होता है क्योंकि सेक्स अपने आप में सबसे बड़ी ह्यूमन अचीवमेंट है इससे हम यह पक्का करते हैं कि हमारी स्पीशीज फ्यूचर में भी exist करे और तभी जब एक इनसान ये टास्क पुरा करता है तब वह काफी पावरफुल और अट्रैक्टिव महसूस करता है।

यह भी पढे –

 

2. वीर्य डिप्रैशन को दूर करता है।

वैसे तो सेक्स दोनों ही जेंडर्स की मानसिक स्वास्थ को बेहतर करता है पर वो महिलाये होती हैं जिन्हें इसका सबसे ज्यादा लाभ मिलता है।

2002 में हुई एक स्टडी बताती है कि जो महिलाये प्रोटेक्शन के बिना सेक्स करती हैं वो वीर्य के कॉन्टैक्ट में आकर कम डिप्रेस महसूस करती हैं।

 

3. महिलाओ को भी इरेक्शन होता है।

ज्यादातर लोग जानते हैं कि हर रोज सुबह इरेक्शन के साथ उठना कैसा फील होता है। पर लोग ये नहीं जानते कि महिलाएं भी हर रात गहरी नींद में जाते और बाहर आते हुए 4 से 5 बार इरेक्शन अनुभव करती हैं, जिसे नाम दिया गया है morning dew.

 

4. हमे लत सेक्स की नहीं सेक्स के विचारों की होती है।

अक्सर हमें बताया जाता है की सेक्स हमारे दिमाग में उन एरिया को एक्टिवेट करता है जो कोकीन लेने पर एक्टिवेट होते हैं। इसी वजह से कई लोगों को सेक्स की लत होने लग जाती हे। पर जो चीज हमें नहीं बताई जाती वो ये है कि असली लत हमे सेक्स से नहीं बल्कि सेक्स के विचारों और सेक्स करने से पहले की उत्तेजना के कारण होती है।

 

5. ओव्यूलेशन टाइम मे महिलाये अल्फा मेल की तरफ आकर्षित होती है।

हर महीने महिलाये एक 12 से 48 घंटे की विंडो से गुजरती हैं जब वह सबसे ज्यादा फर्टाइल होती हैं और वह आसानी से प्रेग्नेंट हो सकती हैं। ये छोटा सा टाइम विंडो दोनों को को ज्यादा हॉट भी बना देता है।

इस टाइम पर पुरुष तो महिलाओं के शरीर को सूंघकर  ही उनकी तरफ खिंचे चले आते हैं।

इस समय महिलाएं अल्फा मेल से ज्यादा आकर्षित होती हैं क्योंकि इस टाइप् के मेल्स ज्यादा मैनली होते हैं और उनके स्पर्म ज्यादा फर्टाइल होते हैं।

 

6. कमुक्तेजना घृणा को कम कर देती है।

जब भी हम कामुक होते हैं तब हमारे किसी इंसान या  चीज को घृणित समझने की क्षमता कम हो जाती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सेक्स की उत्तेजना का काम है आपको एक तरह से हिप्नोटाइज करना ताकि आपकी इस काम को पूरा करने की मोटिवेशन किसी भी तरीके से कम ना हो।

रना अगर आप एक सेकंड के लिए सोचो तो सेक्स काफी घृणित लगता है आप डील कर रहे होते हो पसीने, तरह तरह के कीटाणु और बदबू के साथ। अगर हमारे अंदर घृणा की संवेदनशीलता कभी कम होती ही नहीं तो हमारे पूर्वज कभी सेक्स नहीं करते और हम कभी पैदा नहीं होते।

इन्हे भी पढे

 

7. पार्टनर के साथ बैठकर मूवीज देखने से सेक्स परफोरमेंस बेहतर होती है।

शादी पर हुई एक ताज़ा स्टडी बताती है कि जो कपल्स साथ में रिलेशनशिप्स पर मूवीज देखते हैं, उनमें ब्रेकअप के चांसेस कम होते हैं। जो भावनाए मूवी के लोग महसूस कर रहे होते है वही भावनाये दोनों पार्टनर में आने लग जाती है। तो चाहे कोई इमोशनल सीन चल रहा हो या फिर रोमैंटिक सीन व्यूवर्स के लिए उन इमोशंस को साथ में प्रोसेस करने से उनका रिश्ता और भी मजबूत हो जाता है।

 

8. कामुत्तेजना मे दर्द सहने की क्षमता बड़ जाती है।

जब हम कामूक होते हैं तब हमारी दर्द सहने की ताकत 35 से 40 पर्सेंट बढ़ जाती है और महिलाओ के केस में जब वह ऑर्गेज्म तक पहुंचती हैं तब उनकी दर्द सहने की ताकत 100 परसेंट से भी ज्यादा बढ़ जाती है।

ये इसलिए होता है क्योंकि ऑर्गैजम के टाइम पर हमारे दिमाग में बाकी हॉर्मोन्स और केमिकल्स के बीच सेरोटोनिन रिलीज होता है, जो हमें अच्छा महसूस कराने के साथ-साथ पेन किलर का भी काम करता है।

 

9. ज्यादातर लोग अपने से सिमिलर डीएनए के इंसान के साथ शादी करते हैं।

सुनने में ये थोड़ा अजीब लगता है पर ज्यादातर केसेस में हम उन लोगों की तरफ आकर्षित होते हैं, जिनके फेशियल फीचर्स हमारी तरह ही होते हैं।

अपनी जेनेटिक लाइन को आगे बढ़ाने के लिए इस टाइप के लोग बेस्ट होते हैं, क्योंकि ना तो ये हमारे एकदम अपोजिट होते हैं और ना ही ये पूरे के पूरे हमारे जैसे होते हैं।

 

10. महिलाये जब ovulate नहीं करती तब वो एक देखभाल करने वाले व्यक्ति को पसंद करती है।

जब फीमेल्स कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स पर होती हैं तब ओव्यूलेशन ना होने की वजह से वो एल्फा मेल्स को पसंद करने के बजाय ऐसे व्यक्ति को पसंद करती हैं जो ज्यादा मैनली नहीं बल्कि केयरिंग होते हैं।

यह इसलिए होता है क्योंकि जब कोई महिला फ़र्टियल  ऐसे मेल्स की तरफ अट्रैक्ट होने का जो उन्हें प्रेग्नेंट कर सकें।

         psychological sex facts hindi

                         (   11- 23 )

11. Nipple sex के जरिये आर्गेस्म तक पहुचा जा सकता है

अगर आपको निप्पल sex पसंद है तो psychology के पास आपके लिए एक गुड न्यूज है। Nipples orgasm एक असली चीज हैं और ये उन महिलाओ के केसेज में संभव होता है जो काफी सेंसिटिव होती हैं।

एक स्टडी बताती है कि निपल्स महिलाओ के दिमाग़ मे उन एरिया को एक्टिवेट करते हैं जो क्लूटोरिस के स्टिमुलेशन पर एक्टिवेट होते हैं।

 

12. Sex के बारे मे बात करना सेक्स को ज्यादा मजेदार बनाता है।

सेक्स को और भी मजेदार बनाने वाला सबसे बड़ा फैक्टर है उसके बारे में बात करना। जो लोग अपने पार्टनर के साथ सेक्शुअल कम्युनिकेशन करने में कंफर्टेबल होते हैं, वो अपनी sex लाइफ से ज्यादा खुश होते हैं। जिसकी वजह से कई सेक्स एक्सपर्ट्स बोलते हैं कि हमारी बातें सबसे प्रभावशाली sex toy हैं।

 

13. Sex meditation की तरह भी उपयोग किया जा सकता है।

Sexual meditation technique

हिंदु धर्म और बुद्ध धर्म में एक काफी मिस्टीरियस, प्रैक्टिस या फिर धार्मिक रीति होती है, जिसे बोलते हैं तंत्र। इसकी एक शाखा भगवान तक पहुंचने के लिए सेक्स का उपयोग को करती है और लिमिटेड डेटा इस बात को साबित भी करता है क्योंकि कई केसेस में जब सेक्स को एक्सट्रीम लेवल्स तक ले जाया जाता है तब वह हमारे दिमाग की ऐक्टिविटी बढ़ाने के बजाए उसे कम कर देता है बिल्कुल एक मेडिटेशन की तरह और उससे हमें शरीर के बाहर का अनुभव मिलता है।

 

14. पुरुष सेक्स के लिए अक्सर झूठ बोलते है।

अक्सर ये माना जाता है कि वो बस महिलाये होती हैं जो पुशअप ब्रास और हेयर एक्सटेंशन की मदद से पुरुषो को झूठे सिग्नल्स देती हैं।

पर जब बात झूठ बोलने की आती है तब वो पुरुष होते हैं जिनके झूठ को पकड़ना बहुत मुश्किल होता है और तभी एक स्टडी में पता लगा कि 44 प्रतिशत पुरुष काफी मजे से किसी भी महिला में एक झूठा इंट्रस्ट दिखा सकते हैं सिर्फ उनके साथ सेक्स करने के लिए।

 

15 . सेक्स की इच्छा हमारे बचपन के अनुभवों से जुड़ी होती है।

Psychology बताती है की sexual desire हमारे बचपन के अनुभवों से जुड़े होते हैं। उदाहरण के तौर पर सबसे कॉमन फैक्टर्स हैं foot fetish और role play यानी बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो दूसरे लोगों की पीठ देखकर या फिर उनके साथ एक रोल अदा करके अपनी fetishis पूरी करते हैं।

इन अजीब नोट्स को समझने के लिए कई साइंटिफिक थ्योरीज हैं। जैसे कुछ टाइम पहले ये देखा गया कि हमारे दिमाग में अपने जेनेटिक्स ओर  पैरो को पहचानने वाले एलियंस बिल्कुल साथ साथ होते हैं और जिससे कई लोगो का दिमाग़ पेर वाले नूरल कनेक्शन को जनटिक्स के एरिया में ही रेवायर कर देता है जिससे उन्हें दूसरे लोगों के पैर सेक्सी लगने लगते हैं।

 

16.  लगभग हर 10 सपनो में से एक सपना सेक्स के बारे में होता है।

psychological sex facts hindiअगर हम सपनो की बात करें तो औसतन महिलाओ के सेक्शुअल सपने  सेलेब्रिटीज, पॉलिटिशियन  या फिर उनके Ex के आसपास आते है पर पुरुषो के बीच सबसे कॉमन सेक्शुअल सपना होता कि एक से ज्यादा पार्टनर्स के साथ सेक्स करना।

 

17. महिलाओ ओर पुरुषो के लिए सेक्सुअल चीटिंग का मतलब अलग-अलग होता है

Psychology बताती है कि दोनों जेंडर्स सेक्शुअल जेलसी पर अलग अलग तरह से प्रतिक्रिया करते हैं। पुरुष सबसे ज्यादा रिऐक्ट करते हैं जब उनकी पार्टनर किसी दूसरे पुरुष के साथ सेक्स करती है पर महिलाये ज्यादा रिएक्ट करती हैं जब उनका पार्टनर किसी और महिला के साथ इमोशनल कनेक्शन बना लेता है ।

साइकोलॉजी की नजर में यह इसलिए होता है कि जो पुरुष अपने पार्टनर का दूसरे पुरुष के साथ सेक्शुअल रिलेशन सहन नहीं करते उनके पास ज्यादा चांसेस होते हैं अपने जीन्स को अगली पीढ़ी तक पहुंचाने के।

जो महिलाये अपने पार्टनर को दूसरी महिलाओ के साथ इमोशनल कनेक्शन बनाने से रोकती हैं उनके पार्टनर के अपने रिसोर्सेस दूसरी महिलाओ के साथ शेयर करने के चांसेस कम हो जाते हैं।

 

यह भी पढे –

 

 

18. सेक्स के विचार आना सामान्य है।

अपने आप को सेक्स के बारे में सोचने के लिए जज करना बंद करो। क्योंकि हममें से लगभग 97% लोग कोई न कोई सेक्शुअल कल्पनाए ज़रूर रखते हैं। ज्यादातर लोग ये बताते हैं कि वो एक दिन में कई बार सेक्स के बारे में सोचते हैं पर इससे भी ज्यादा showking sex fact तो ये है कि 3% लोग ऐसे भी हैं जो सेक्स के बारे में कभी नहीं सोचते हैं।

 

19. नशा करने के बाद बाद सब आकर्षक दिखता है।

ये सच है कि नशा करने के बाद हमें लोग ज्यादा आकर्षक लगने लगते हैं क्योंकि जब हम शराब पीते हैं तब हमारी दूसरों को जज करने की क्षमता बहुत कम हो जाती है, जिसकी वजह से हम उन लोगों से भी फ्लर्ट करना शुरु कर देते हैं, जिन्हें हम बिना पिए ढंग से देखते भी नहीं हैं। इसे बोलते हैं, Beer gogles phenomenon.

 

20. सेक्स हमारे सोचने की क्षमता को बढ़ा सकता है।

कई ऑब्जर्वेशंस बताती है कि सेक्स हमारे दिमाग में नए न्यूरॉन्स की तादाद को बढ़ाता है, जिसकी मदद से हमारी सोचने व समझने की क्षमता बढ़ती है और हमारा तनाव कम हो जाता है।

 

21. हम कैसे चलते है यह हमारी के सेक्स लाइफ बताता है।

जिस तरह से आप सड़क पर चल रहे होते हो वो आपके बारे में काफी बातें बता सकता है। कई रिसर्चर्स में ये देखा गया है कि लोग ये पहचानने में सफल रहे थे कि कौन सी फीमेल्स रेगुलरली ऑर्गैज़म अनुभव रती हैं। उनके हिसाब से ये फीमेल्स फ्लूइड, ड्यूटी, एनर्जी, सेक्शुअलिटी और फ्रीडम जैसी क्वॉलिटीज दिखा रही थीं।

 

 22. आप किस तरह से सेक्स को देखते हो, ये पूरी तरह से निर्भर करता है आपकी पर्सनैलिटी पर।

हमारी पर्सनैलिटी पाँच भागो में बटी होती है।

  • Openness –  जो लोग इसमे में हाई स्कोर करते हैं, वो नई नई ट्रिक्स और टेक्नीक्स को ट्राय करने के लिए हमेशा उत्तेजित रहते हैं क्योंकि वे ओपन माइंडेड होते हैं।
  • Consciousness –  कॉन्शियस लोग काफी सेल्फ डिसिप्लिन होने की वजह से सेक्स को काफी ट्रेडिशनल तरह से देखते हैं।
  • Extroverson –  ये लोग अपने आउट गोइंग नेचर की वजह से अलग अलग लोगों में एक हि समय पर इंटरेस्ट दिखा सकते हैं और इंट्रोवर्ट से अलग वो सेक्सुअली ज्यादा एक्टिव रहते हैं और कैजुअल सेक्स को पसंद करते हैं।
  • Agreebleness – ये लोग इतने केयरिंग होने की वजह से अपने पार्टनर में इंटरेस्ट दिखाते हैं पर इतने इमोशनल होने की वजह से उनमें सेक्स की इच्छा काफी कम होती है।
  • Neroticism –  ये लोग इमोशनली अस्थिर होते हैं, जिसकी वजह से उनको बिस्तर में खुश करना बहुत मुश्किल होता है।

 

23. लेस्बियन पोर्न सबसे ज्यादा देखी जाती है।

दुनिया की सबसे पॉपुलर पोर्न साइट  pornhub हर साल एक रिपोर्ट जारी करती है, जिसमें वो बताते है  कि कौन सी चीज़ सबसे ज्यादा सर्च करी जा रही है। पिछले कई सालों मे लेस्बियन पोर्न सबसे लोकप्रिय कैटेगरी रही है।

लेस्बियन पोर्न लोकप्रिय होने के 2 कारण है

  •   पुरुष ज्यादा ओरिएंटेड होते हैं, जहां एक जवान, सुंदर और स्वास्थ फीमेल एक मेल को लुभाने के लिए काफी होती है वहीं 1 की जगह ऐसी दो फीमेल्स इस आनंद को दोगुना कर देती है।
  •  लेस्बियन पॉर्न मेल्स की  ज्यादा सेक्शुअल पार्टनर्स की इच्छा को पूरी करती है और साइकोलॉजी बताती है कि पुरुषो की सेक्स ड्राइव बहुत ज्यादा बढ़ जाती है  जब उन्हें नई और एक से ज्यादा महिलाओ के साथ सेक्स करने का मौका मिलता है। इस इफेक्ट को बोलते हैं The Coolidge Effect.

दोस्तों आपको हमारा लेख 23 psychological sex facts कैसा लगा उम्मीद है यहा आपको पसंद आया होगा। comment मे हमे अपने विचार जरूर बताए।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Leave a Reply

Your email address will not be published.