12 Psychological facts about cheating in hindi (चीटिंग के बारे मे मनोवैज्ञानिक तथ्य)

0
(0)

12 Psychological facts about cheating in hindi (चीटिंग के बारे मे मनोवैज्ञानिक तथ्य) –

Cheating के through किसी भी इनसान का trust तोडऩे से बुरा कुछ भी नहीं होता। psychology बताती है कि जो चीज हम इन्सानों के बीच लॉन्ग टर्म में शांति बनाए रखती है, वो trust ही होता है। लेकिन जब भी एक इन्सान दूसरे को cheat करके उसका trust तोड़ देता है। तब वो इंसान पूरी दुनिया को ही शोषण करने लग जाता है ये importance है trust की।

तभी आज हम  12 Psychological facts about cheating in hindi (चीटिंग के बारे मे मनोवैज्ञानिक तथ्य)  को डिस्कस करेंगे ताकि आप ये समझ पाएं कि वो क्या चीजें होती हैं जो लोगों को cheating या दूसरों से affair करने के लिए motivate करती हैं।

Table of Contents

 12 Psychological facts about cheating in hindi (चीटिंग के बारे मे मनोवैज्ञानिक तथ्य)

12. Intelligent  लोग ज्यादा cheat करते हैं।

Social psychology के gernal में publish हुई एक study में देखा गया कि वो लड़के जिनका IQ ज्यादा होता है, उनके cheating करने के chances कम होते हैं।

हलाकि ये सिर्फ तभी होता है जब हम ज्यादा intelligent और कम intelligent males को लेते हैं  बिना उनकी इनकम, सोशल स्टेटस ,अट्रैक्टिवनेस्स् और हाइट को अकाउंट मे लिए, लेकिन जैसे ही हम डेटा में inteligent की अचीवमेंट्स को add कर देते हैं वैसे ही उनके cheating के चांसेस भी बढ़ जाते हैं।

यही सेम चीज फीमेल्स में भी देखी गयी है लेकिन high IQ फीमेल्स इसलिए नहीं चीट करती हैं कि उनके पास ऑप्शन ज्यादा होते हैं, बल्कि इसलिए क्योंकि वो यूं ही अपने उस समय के पार्टनर से खुश नहीं होती ।

11.  लड़कियां एक unknown male के face को देख कर ही उसकी loyalty को judge कर लेती हैं।

एक स्टडी जिसमें females को कई अननोन फेसेज को दिखाया गया और उनको उन males की loyalty को रेट करने के लिए बोला गया। तब रिजल्ट्स में पता चला कि फीमेल्स की रेटिंग और लड़कों की past loyalty में एक नोट सिंबल को रिलेशन था। लड़कियों ने काफी हद तक स्टडी में सही अंदाजा लगाया कि कौन सा male cheating कर सकता है, लेकिन जब यही टेस्ट मेल्स ने लिया तो disloyal  females का अंदाजा नहीं लगा पाए।

इससे पता चलता है कि फीमेल्स एक बेहतर तरह से एक आदमी की loyalty को judge कर सकती हैं हैं जबकि उनके पास मिनिमम information होती है।

10. जेनेटिक्स और पेरंट्स का cheating बिहेवियर एक इनसान के cheat करने के चांसेज को बढ़ा देता है।

इसका मतलब यह नहीं है कि जिन लोगों के पेरंट्स cheat करते हैं वो कभी भी लॉयल नहीं रह सकते। लेकिन एक स्टडी में ये देखा गया कि जिन लोगों में Long allel नाम का जीन मौजूद था, उनके cheat करने के चांसेस 50 परसेंट ज्यादा थे और इन लोगों में ओवरऑल रिस्क टेकिंग बिहेवियर भी ज्यादा था जैसे रेगुलरली एल्कोहोल कंज्यूम करना ।

इसके ऊपर से बच्चे अपने पेरेंट्स के relationship को देख कर ही ये समझते हैं कि उन्हें कैसे रिलेशनशिप बनानी है और उन्हें कितना value करना है। इसलिए अगर एक पेरेंट भी cheater निकलता है तो उसका अफेक्ट उसके बच्चों पर भी पड़ता है।

9. women ज्यादातर तब cheat करती है जब वो ovulation कर रही होती है।

यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया की प्रोफेसर Martie Haselton बताती हैं कि एक फीमेल अपने relationship को अलग तरीके से evulate करती है अपनी cycle के अलग अलग फेज में।

वो फीमेल्स जो अपने पार्टनर्स को सेक्शुअली अट्रैक्टिव नहीं मानती या उन्हें less man समझती हैं उनके दूसरे मेल्स से अट्रैक्ट होने के चांसेज बढ़ जाते हैं  जब वो ovulate कर रही होती हैं।

इस टाइम में वो सबसे ज्यादा फर्टाइल होती हैं और उनकी बायोलॉजी उनको बोल रही होती है कि वो बेस्ट पॉसिबल पार्टनर चूज करें ताकि उन्हें बेस्ट जीन्स मिल पाएं।

 8. एक cheater के दुबारा cheat करने के चांसेस तीन गुना ज्यादा होते हैं।

एक स्टडी जिसमें sexual behaviour को असेस कराया गया। उसमें रिसर्चर्स को ये पता चला कि जब एक इन्सान एक cheating करता है तब उसके next टाइम time cheat करने के चांसेज तीन गुना ज्यादा होते हैं उन लोगों के तुलना में जिन्होंने कभी cद नहीं किया होता। यानि एक cheater को सुधारना बहुत मुश्किल होता है।

7.  Low pitch आवाज़ वाले लड़के और high pitch वॉइस वाली लड़कियों के cheating करने के चांसेस ज्यादा होते हैं।

क्योंकि हमारी आवाज हमारी हॉर्मोनल हेल्थ को दिखा रही होती है। अगर एक मेल की आवाज़ pitch है तो उसका मतलब वो ज्यादा masculine है, उसमें टेस्टोस्टेरोन ज्यादा है और इस वजह से वो ज्यादा अट्रैक्टिव है।

स्टडीज में देखा गया है कि ऐसे में उसके चीट करने के चांसेस उन मेल के तुलना में ज्यादा होते हैं, जिनकी वॉइस इतनी masculine और pitch नहीं होती ।

सिमिलरली females में high pitch सिग्नल करती है हाई फर्टिलिटी, फर्टिलिटी और अट्रैक्टिव्नेस्स को ऐसी फीमेल्स के पास मेट्स के ज्यादा ऑप्शन होते हैं और इनके चीटिंग के चांसेस भी ज्यादा होsते हैं उन फीमेल्स के तुलना में जिनकी आवाज भारी होती है।

 6. एक cheater में cheating karne के बाद इमोशनल पेन होता है।

भले ही शुरू में एक cheater को affair में थ्रिल मिल रहा हो, लेकिन cheating करने के बाद वो भी इमोशनली अफेक्ट होता है। उनमें घबराहट, शर्मिंदगी, भी, पछतावा ऐसे इमोशन आने लगते हैं जब भी वो ये सोचते हैं कि उनकी चीटिंग उनके प्यार करने वालों को कैसे अफेक्ट कर सकती है।

ऐसा इंसान हमेशा इस तरह की लाइफ जीने लगता है कि एक तरफ वो अपने अफेयर को इंजॉय भी करना चाहता है, लेकिन दूसरी तरफ उसमें हमेशा पकड़े जाने का डर भी होता है।

5. Cheater झूठ बोलने में बहुत अच्छे होते हैं।

Psychologist Leslibeth Wish बोलती हैं कि एक cheater अफेयर में पहले से ही उन चीजों के बारे में झूठ बोलता है, जिसके लिए बाद में उस पर प्रश्न उठ सकते हैं। ऐसा इन्सान अच्छे से जानता है कि उन्हें क्या चीज किस तरीके से बोलनी है ताकि वो पकड़े ना जाएं। लेकिन छोटे छोटे बदलाव जैसे एटीट्यूड को बदलना या एकदम से बहुत ज्यादा या बहुत कम प्यार दिखाना ये चीटिंग के काफी strong signs होते हैं।

4.  मैरिड कपल एक specific age के around cheating करते हैं।

एक डेटिंग वेबसाइट का जब सर्वे किया गया तो पता चला कि ज्यादातर मैरिड मेन ने अराउंड 36 की एज में वेबसाइट पर साइन अप किया वहीं मैरिड वीमेन ने अराउंड 33 कि age में साइन अप करा और इन्हीं ages के अराउंड ज्यादातर मैरिड कपल्स cheat करते हैं।

3. Men  और women cheating को डिफरेंट तरीके से देखते हैं।

Males के लिए cheating वह है जहां sexually intimacy involve हो, लेकिन फीमेल्स emotional entemacy को भी cheating मानती हैं। क्योंकि एक male का डर होता है कि अगर उसकी पार्टनर sexually किसी और के साथ इंटिमेट हुई है तो उसको किसी दूसरे का बच्चा फेस करना होगा। वहीं फीमेल्स इमोशनल इंटिमेसी को भी चीटिंग मानती हैं क्योंकि अगर एक आदमी किसी और के साथ इमोशनली इन्वॉल्व तो  उस फीमेल को अपने रिसोर्सेज बांटने पड़ सकते हैं।

2. लड़के और लड़कियों के cheat करने के reasons अलग होते हैं

evolutionary psychology यह बताती है कि लड़के cheat इसलिए करते हैं क्योंकि वह अपने जीन्स को ज्यादा से ज्यादा spread कर पाएं और उनका वंश आगे चलता रहे। वहीं females इसलिए cheat करती हैं ताकि उनके बच्चों के बेस्ट possible sperm हों।

यहां तक कि जब भी एक female multiple male के साथ met करती है तब उन मेल्स के sperm आपस में compete करते हैं जो eggs सिर्फ उसी स्पर्म से फर्टिलाइज होता है जो सबसे  healthy होता है।

 1. Females  का cheating करना  बढ़ गया है।

नैशनल ओपिनियन रिसर्च सेंटर के सर्वे के हिसाब से 1990 से लेकर 2010 तक females का cheating करना 40 पर्सेंट बढ़ गया है। वहीं लड़कों के cheating रेट्स 1990 से लेकर 2010 तक consistent ही रहे।

Friends यह था हमारा article 12 Psychological facts about cheating in hindi (चीटिंग के बारे मे मनोवैज्ञानिक तथ्य)। हमे उमीद यहा आपको पसंद आया होगा, अपने विचार हमे comment मे जरूर बताये।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Leave a Reply

Your email address will not be published.