Bad habits that damage your brain in हिंदी ( दिमाग को damage करने वली आदते )

0
(0)

 Bad habits that damage your brain in हिंदी ( दिमाग को damage करने वली आदते ) – दोस्तो ये कहना गलत नहीं होगा कि हमारी body चाहे कितनी भी strong हो लेकिन अगर हमारा brain कमजोर हैं तो दुनिया में आगे बढ़ने या एक ब्राइट future इमैजिन करना भी पॉसिबल नहीं है। इंसानी दिमाग हमारी बॉडी का सबसे मिस्टीरियस यंत्र है और साइंटिस्ट हमेशा इसके बारे में नई नई बातें जानते रहते हैं, लेकिन अभी भी कई ऐसी बातें हैं जो अभी तक राज़ ही हैं और इसीलिए आज हम आपको रीसेंट कुछ सालों में इंसानी दिमाग पर हुई रिसर्च से बताऊंगा कि हमारी छोटी छोटी चीजें हमारी छोटी छोटी आदतें हमारे दिमाग को कैसे कमजोर कर रही हैं।

तो चलिए इस article मे हम बत करतें है Bad habits that damage your brain in हिंदी ( दिमाग को damage करने वली आदते ) के बारे मे  –

 

Bad habits, brain, weak

6 Bad habits that damage your brain in हिंदी

6. झुककर चलना

हमारे चलने का स्टाइल भी हमारी मेंटल health पर असर डालता है। एक रिसर्च के अनुसार जो लोग झुककर चलते हैं वो चिड़चिड़े हो जाते हैं और ये लोग पॉजिटिव बातों की जगह नेगेटिव एक्सपीरियंस को ज्यादा याद रखते हैं और इसकी वजह से उनके दिमाग को नुकसान पहुंचता है और उन्हें अल्जाइमर होने का खतरा बढ़ जाता है।

आपने नोटिस किया होगा कि आजकल लोगों में कितना गुस्सा बढ़ गया है, हम लोग चिड़चिड़े हो गए हैं। इसकी वजह झुककर चलना भी हो सकती है। तो देखिए जब आप भी चलते हो तो मोबाइल में सर झुकाकर ही चलते हैं ना चलते होगें नहीं। चलते तो अच्छी बात चलते हो तो मत चलो पर सिर्फ चलते चलते ही नहीं  ज्यादातर लोगों का जिन्दगी का ज्यादातर टाइम मोबाइल में सर झुका कर ही जा रहा है तो इस आदत को जरा कंट्रोल करिए। कम से कम चलो तो सर उठा कर चलो हद से आप confident भी नजर आएंगे और ये आपके ब्रेन के लिए भी अच्छा होगा।

 5. हर चीज की फोटो लेना

एक आदत जो आजकल बहत चल रही हैं अपने जिंदगी के हर लम्हे का फोटो लेने की आदत हमारे दिमाग की खास इवेंट्स को याद रखने की एबिलिटी खत्म कर देती है।

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के एक रिसर्च के मुताबिक हर चीज की फोटो लेने की आदत हमारी मेमोरी कमजोर कर रही है। होता यह है कि जब हम किसी चीज की फोटो लेते हैं तो हमारा फोकस उस चीज पर या सिर्फ उतने ही फ्रेम पर होता है तो बाद में हमें बस वही फ्रेम या वही चीज याद रह जाती है और वो एक्सपीरियंस हमें याद नहीं रहता कि हमारे आसपास क्या हो रहा था तो हर अच्छे लम्हे की फोटो लेने की जगह हमें वो लम्हा पूरी तरह से जीना चाहिए। हमारे पूरे फोकस के साथ जीना चाहिए।

4. एक्सरसाइज ना करना।

अगर आप हफ्ते में तीन दिन भी एक्सरसाइज करते हो तो डिप्रेशन का खतरा 90% तक कम हो जाता है।

लंडन यूनिवर्सिटी के एक रिसर्च के मुताबिक फिजिकल एक्टिविटी और डिप्रेशन में डायरेक्ट रिलेशन और एक न्यूरो  रिसर्च बताती है कि डिप्रेशन हमारे दिमाग के लिए बहुत खतरनाक है इसलिए एक्सरसाइज करो।

3. नींद से दूरी

नींद मेंटल हेल्थ के लिए सबसे ज्यादा जरूरी चीजें है मेंटल और इमोशनल पावर और हमारी बॉडी एक अच्छी नींद के बाद फिर से रिफ्रेश हो जाती हैं, जबकि नींद की कमी से डेमेंशिया यानि के शॉर्ट टर्म मेमोरी, लॉस समेत कई बीमारियों की शरुआत हो जाती है, जो जवानी में तो ज्यादा तकलीफ नहीं देती अभी तो आप बस चाबी रखकर भूल जाते हो, लेकिन बुढ़ापे में हो सकता है अपनी वाइफ को भूल जाओ तो इससे बचो ठीक से नींद पूरी लो।

2..मल्टी टास्किंग

हर इंसान चाहता है कि वो एक टाइम में कई काम कर ले ताकि उसका टाइम बच सके। लोगों को लगता हैं कि वो एक टाइम में कई काम करके ज्यादा एफिशंट वर्कर बन रहे हैं, जबकि ऐसा होता नहीं बल्कि मल्टीटास्किंग आपको दिमागी तनाव का शिकार कर देती है।

एक टाइम में कई जगह पर फोकस करने की नाकाम कोशिश की वजह से हमारे रिलेशनशिप्स पर भी असर पड़ता है।  एक टाइम में एक ही काम करो।

मैं भी मल्टीटास्किंग करता हूं और बहुत ज्यादा टेंशन में रहता था। जब मैंने एक टाइम में काम करना शुरू किया तो जिन्दगी काफी बेहतर हो गई और यही बात डेल कारनेगी ने 70 साल पहले अपनी बुक हाउ टू स्टीव बोरिंग टू स्टार्ट लिविंग में भी बताई है।

1. ज्यादा टीवी देखने से दिमाग पर नेगेटिव असर पड़ता है।

ऑक्सफर्ड के साइंटिस्ट ने ये बात प्रूव की है कि किताबें पढ़ने से हमारे दिमाग की कॉग्निटिव एबिलिटी बेटर होती है। यानी कि हमारे सोचने समझने नॉलेज एक्वायर करने की स्किल्स इम्प्रूव होती है। रीडिंग ब्रेन के ऐसे हिस्सों को भी एक्टिवेट करती है जोहम इस्तेमाल नहीं करते। किताबें पढ़ने से ब्लड ब्रेन को उन  एरियाज में जाता है जो कंसंट्रेशन और कंडीशन के लिए रिस्पांसिबल होते हैं। यानि कि इससे कंसंट्रेशन बेटर होता है और हमारे समझने की शक्ति भी बढ़ती है।

यहां ये बात भी बताने लायक है कि जब हम टीवी देखते हैं या वीडियो गेम्स खेलते हैं तो हमारे दिमाग में एसा  कुछ नहीं होता बल्कि फेक न्यूज दिखा दिखाकर हमारा ब्रेनवॉश किया जाता है और आजकल तो हमें कम्युनल भी बनाया जा रहा है। तो अब देर किस बात की एक अच्छी सी बुक उठाओ और पढना शुरू करो और इन फालतू के न्यूज चैनल्स को मत देखो।

तो दोस्तों ये था हमारा article ( 6 habits that damage your brain in हिंदी) उम्मीद है यह आपको पसंद आया होगा । अगर पसंद आया है तो comment मे जरूर बताये।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Leave a Reply

Your email address will not be published.